Thursday, June 30, 2011

कविता : हम हैं फूल

हम हैं फूल 
हम हैं फूल निराले...,
लाल, पीले रंगों वाले | 
फूलों के हैं रंग अनेक .....,
माला में सब  दिखते एक |
फूल मंदिर में हैं चढ़ते .............,
फूलों को लोग पैरों तले कुचलते|
लोग फूलों का करते हैं अपमान ....,
लेकिन फूल करता सबका सम्मान |
नाम : सोनम 
कक्षा : 4th 
सेंटर : अपना स्कूल, सरन भट्ठा
 
  

1 comment:

  1. शाबाश,, अच्छा लिखा.

    ReplyDelete