Wednesday, June 8, 2011

शीर्षक : कौआ आया

 कौआ आया 
कांव - कांव  करता  कौआ आया ,
बड़े सवेरे कौआ आया | 
जल्दी उठो  हो गयी सुबह , 
देखो बाग में मच गयी पक्षियों की कलह |
चिड़ियाँ बोली चूँ-चूँ -चूँ  ,
कोयल बोली कूँ-कूँ-कूँ |
मैं भी बोली क्या है ? 
उठो-उठो भई शोर मचा है |
कांव - कांव  करता  कौआ आया ,
बड़े सवेरे कौआ आया | 



नाम : सरिता देवी 
कक्षा : 8th  
अपना स्कूल , पनकी पड़ाव ,
 कानपुर

1 comment:

  1. वाह! बहुत बढ़िया...

    ReplyDelete